सम्पूर्ण चाणक्य नीति हिंदी में | Complete Chanakya Niti In Hindi

2
2078

विष्णुगुप्त चाणक्य अन्य बालको से भिन्न एक असाधारण बालक थे|उनके पिता चणक एक शिक्षक थे | वे भी अपने पिता का अनुसरण करके शिक्षक बनना चाहते थे | उन्होंने तक्षशिला विश्वविध्यालय में राजनीति और अर्थशास्त्र की शिक्षा ग्रहण की | चाणक्य ऐसे अनोखे और अद्भुत कुशल राजनीतिज्ञ थे जिन्होंने मगध देश के दुराचारी विलासी एवं अत्याचारी राजा महानंद का सर्वनाश करके मौर्य राज्यवंश की सत्ता स्थापित की।
आचार्य चाणक्य एक ऐसी महान विभूति थे, जिन्होंने अपनी विद्वत्ता, बुद्धिमता और क्षमता के बल पर भारतीय इतिहास की धारा को बदल दिया। मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चाणक्य कुशल राजनीतिज्ञ, चतुर कूटनीतिज्ञ, प्रकांड अर्थशास्त्री के रूप में भी विश्वविख्‍यात हुए।

Complete Chanakya Niti HINDI ME BY NIKOLOGY.png

Related: आचार्य चाणक्य की जीवनी

आचार्य द्वारा लिखित नीतिशास्त्र के ग्रंथों को पढ़कर लगता है कि वे बहुआयामी व्यक्तित्व के पक्षधर थे। इसीलिए उन्होंने वर्णाश्रम के कर्तव्यों की चर्चा भी स्थान-स्थान पर की है। ‘नीति’ में धर्म और अध्यात्म को आचार्य ने पूरा स्थान दिया है। उनकी दृष्टि में राजनीति यदि धर्म से दूर चली जाए, तो उसके भटक जाने की संभावना सौ प्रतिशत हो जाती है। धर्मनीति को सोच की व्यापकता प्रदान करती है।
यहां एक बात स्पष्ट रूप से हमें समझ लेनी चाहिए कि आचार्य के समय की मान्यताएं और सामाजिक व्यवस्था आज से कई मायने में बिलकुल भिन्न है। जाति-वर्ण व्यवस्था अब बहुत कमजोर हो चुकी है। ग्रंथ में लिखे गए कुछ शब्दों और मान्यताओं को लेकर स्वस्थ प्रतिक्रिया करना अच्छी बात है, लेकिन उस संदर्भ में मूलग्रंथ में घटाने-बढ़ाने का दुराग्रह करना हमारी नासमझी को ही प्रदर्शित करता है। इतिहास के कड़वे-मीठे तथ्यों को उधेड़ कर फेंका नहीं जा सकता। बदलाव के लिए समझ और धैर्य की आवश्यकता है।
इतनी सदियाँ गुजरने के बाद आज भी यदि चाणक्य के द्वारा बताए गए सिद्धांत ‍और नीतियाँ प्रासंगिक हैं तो मात्र इसलिए क्योंकि उन्होंने अपने गहन अध्‍ययन, चिंतन और जीवानानुभवों से अर्जित अमूल्य ज्ञान को, पूरी तरह नि:स्वार्थ होकर मानवीय कल्याण के उद्‍देश्य से अभिव्यक्त किया। “चाणक्य नीति” आचार्य चाणक्य की नीतियों का अद्भुत संग्रह है, जो आज भी उतना ही प्रासंगिक है, जितना वह दो हजार चार सौ साल पहले था, जब इसे लिखा गया था ।
चाणक्य का साहित्य समाज में शांति, न्याय, सुशिक्षा, सर्वतोन्मुखी प्रगति सिखाने वाला ज्ञान का भंडार है। चाणक्य नीति (Chanakya Niti) के मूल श्लोकों (quotes) की सरल भाषा में लिखा गया है। हमें विश्वास है कि ‘संपूर्ण चाणक्य नीति’ के ये अध्याय आपके जीवन में प्रेरणा और ज्ञान का भंडार सिद्ध होगे।
हापंडित आचार्य चाणक्य की ‘चाणक्य नीति’ में कुल सत्रह अध्याय है, जिन्हे आप नीचे दिए गए लिंक्स पर पढ़ सकते हैं !! और अपनी जिंदगी को ज्ञान और प्रेरणा से भर सकते है|

chanakya निति के सभी अध्याय की लिंक निचे जैसे जैसे हम पोस्ट करेंगे अपडेट करते रहेंगे जुड़े रहिये..

Complete Chanakya Niti Hindi Me

YouTube पर देखें  सम्पूर्ण चाणक्य निति हिन्दी में

  1. चाणक्य नीति : प्रथम अध्याय | Chanakya Neeti : First Chapter
  2. चाणक्य नीति : द्वितीय अध्याय | Chanakya Neeti : Second Chapter
  3. चाणक्य नीति : तीसरा अध्याय | Chanakya Neeti : Third Chapter
  4. चाणक्य नीति : चौथा अध्याय | Chanakya Neeti : Fourth Chapter
  5. चाणक्य नीति : पांचवा अध्याय | Chanakya Neeti : Fifth Chapter
  6. चाणक्य नीति : छठवां अध्याय | Chanakya Neeti : Sixth Chapter
  7. चाणक्य नीति : सातवां ध्याय | Chanakya Neeti : Seventh Chapter
  8. चाणक्य नीति : आठवां अध्याय | Chanakya Neeti : Eighth Chapter
  9. चाणक्य नीति : नवां अध्याय | Chanakya Neeti : Ninth Chapter
  10. चाणक्य नीति : दसवां अध्याय | Chanakya Neeti : Tenth Chapter
  11. चाणक्य नीति : ग्यारहवां अध्याय | Chanakya Neeti : Eleventh Chapter
  12. चाणक्य नीति : बारहवां अध्याय | Chanakya Neeti : Twelfth Chapter
  13. चाणक्य नीति : तेरहवां अध्याय | Chanakya Neeti : Thirteenth Chapter
  14. चाणक्य नीति : चौदहवां अध्याय | Chanakya Neeti :Fourteenth Chapter
  15. चाणक्य नीति : पन्द्रहवां अध्याय | Chanakya Neeti :Fifteenth Chapter
  16. चाणक्य नीति : सोलहवां अध्याय | Chanakya Neeti : Sixteenth Chapter
  17. चाणक्य नीति : सत्रहवां अध्याय | Chanakya Neeti :Seventeenth Chapter

These Hindi chapters of Chankya Neeti are based on an sanskrit slokas Translation of Chankya Neeti

Note: Some thoughts of Chanakya niti may be offensive to women, or to Hindus born in so called low caste. I believe in complete equality between man and woman and we detest the Hindu caste system. We have decided to publish his thoughts exactly as written by Acharya Chanakya. We apologize to women, and to anyone else, who may be offended.

Do You Want To Be Inspired? Read More Inspiring Posts:


did you like this article share it with your friends. share your comments.
अगर आपके पास हिन्दी में कोई Inspirational story,motivational article या ऐसी कोई भी जानकारी है जो आप लोगो तक पोहुचना चाहते है तो आप हमें email पर भेज सकते है,अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.
धन्यवाद

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here